Image Source- &nbsp twitter

राजस्थान: जयपुर में एक सड़क दुर्घटना हो गई है। यहां इस दुर्घटना में 6 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है, और इसके अलावा पांच लोग घायल अवस्था में बताए जा रहे हैं। पांचों को पास ही के अस्पताल महात्मा गांधी व सवाई मानसिंह अस्पताल में ले जाया गया है। जहां उन सभी को भर्ती किया गया है। सभी की हालत अब भी नाजुक बताई जा रही है।

यह हादसा जयपुर के चाकसू में हुआ है। इस जगह पर से 11 लोग एक इको वैन में सवार होकर REET की परीक्षा देने के लिए, बारां से सीकर परीक्षा संस्थान की तरफ जा रहे थे। कि अचानक उनकी यह कार ट्रॉली में जाकर लग गई, और वहीं ढेर हो गई। जिससे तुरंत ही छह लोगों की मौत, एवं बाकी पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी लोग कार में थे, और अपनी राजस्थान टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (REET) की परीक्षा देने की वजह से वह बारां से सीकर के लिए रवाना हुए थे कि अचानक जिस इको वैन से यह सभी 11 लोग जा रहे थे, वह काबू से बाहर हो गई और एक ट्रॉली में पीछे से तेज टक्कर लगी। यह टक्कर कितनी तेज थी इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि, कार में बैठे लोगों में से यह टक्कर लगने के तुरंत बाद ही 6 लोगों की मौत हो गई। और अन्य 5 लोग घायल हो गए। इन सभी के घायल होने के बाद महात्मा गांधी व सवाई मानसिंह अस्पताल में इनको भर्ती कराया गया।

पुलिस ने बताया कि कार में सवार ड्राइवर को नींद आ गई थी, जिसके बाद यह हादसा हुआ। इस हादसे से 6 लोग मर चुके हैं, और 5 घायल हो चुके हैं। फिलहाल पुलिस NH-12 निमिडिया मोड पर छानबीन करके पता लगाने की कोशिश कर रही है कि, हादसा कैसे हुआ है। यह हादसा NH-12 निमिडिया मोड़ पर हुआ है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री द्वारा दिया जाएगा मुआवजा

इस हादसे के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी खेद प्रकट करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री सहायता कोष से मृतकों के परिवारों को दो लाख और घायलों के परिवारों को ₹50,000 मुआवजा के तौर पर दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि, “चाकसू में सड़क हादसे में छह रीट अभ्यर्थियों की मृत्यु दुखद है। मैं ईश्वर से सभी दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं। मुख्यमंत्री सहायता कोष से मृतकों के परिजनों को 2 लाख एवं घायलों को 50 हजार रूपए मुआवजा दिया जाएगा।”

उन्होंने आगे कहा कि, “मैं सभी अभ्यर्थियों से निवेदन करता हूं कि यात्रा करते हुए सावधानी रखें। तेज गति एवं असावधानीपूर्ण तरीके से वाहन ना चलाएं। यथासंभव सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करें। कोई भी परीक्षा आपके जीवन से बड़ी नहीं हो सकती है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here