21/September/2021, IST 22:22 PM

Image Source- AP Photo

कोरोना महामारी को देश और दुनिया में 2 साल से भी ज्यादा का समय हो चुका है, लेकिन यह बीमारी जाने का नाम नहीं ले रही है। कोरोना कि भारत में अब तक दो लहर आ चुकी है। दोनों लहर में भारत में कई लोगों की मृत्यु हुई है। और एक भयानक मंजर देखने को मिला है। अब यह बीमारी देश और दुनिया से कब खत्म हो रही है, सभी को इसका जवाब जानना है। लेकिन इसका जवाब सभी को परेशान करने वाला है।

इस बारे में वैक्सीन एक्सपर्ट डॉक्टर गगनदीप कौर ने बताया है कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण एंडेमीसीटी की दिशा में आगे बढ़ता जा रहा है। और इस से तात्पर्य यह है कि, यह वायरस भारत से कभी ना जाने वाला वायरस बनने जा रहा है। यह चिंता का विषय है।

डॉक्टर कांग कहते हैं कि, यह कोरोना वायरस स्थानीय स्तर संक्रमण जोर पकड़ेगा, और फिर देश में पूरी तरह से अपने पांव पसार लेगा। जिसके बाद यह तीसरी लहर कहलाएगा। लेकिन यह पहले की तरह ज्यादा खतरनाक रूप से नहीं आएगा। किसी भी बीमारी के अंदर एंडेमिक उसको कहते हैं, जिसमें देश के सभी लोग उस वायरस के साथ अपना जीवन गुजारना शुरू कर देते हैं।

यह महामारी से पूरी तरह से अलग है और यह बड़ी संख्या में लोगों को अपनी चपेट में ले लेती है। इन सभी बातों की जानकारी गगनदीप कांग ने पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू में दी।

उनके अनुसार, ‘ऐसे में क्या हम उस तिहाई में वही आंकड़े और वही पैटर्न पा सकेंगे जो हमने दूसरी लहर के दौरान देखा? मुझे लगता है कि इसकी संभावना कम है. हम स्थानीय स्तर पर संक्रमण को जोर पकड़ते देखेंगे जो छोटा होगा और देश भर में फैलेगा. वह तीसरी लहर बन सकती है, और ऐसा हो सकता है अगर हमने त्योहारों को लेकर अपना व्यवहार नहीं बदला. लेकिन उसका पैमाना उतना नहीं होने जा रहा जो हम पहले देख चुके हैं.’

नहीं खत्म होगी कोरोना महामारी

जब उनसे यह पूछा गया कि क्या भारत में कोरोना एंडेमिक की स्थिति में पहुंचने की तरफ है, तब उन्होंने कहा कि,’जब आपके पास कुछ ऐसा हो, जो निकट भविष्य में खत्म नहीं होने वाला, फिर वह एंडेमिक स्थिति की ओर बढ़ रहा होता है. फिलहाल हम सार्स-सीओवी2 वायरस को खत्म करने के लक्ष्य से काम नहीं कर रहे हैं, इसका तात्पर्य है कि इसे एंडेमिक बनना है.’ उन्होंने आगे कहा कि, ‘हमारे यहां कई एंडेमिक बीमारियां हैं जैसे इंफ्लूएंजा (फ्लू), लेकिन यहां एंडेमिक के साथ-साथ महामारी का खतरा भी है. उदाहरण के लिए अगर (कोरोना वायरस का) कोई नया वेरिएंट आता है, जिससे लड़ने की क्षमता हमारे शरीर में नहीं है तो वह फिर से महामारी का रूप ले सकता है.’

डॉक्टर कांग ने यह भी सुझाया कि यदि कोरोना को पूरी तरह खत्म करना है तो, उसके लिए एक बेहतरीन टीकाकरण का निर्माण होना बहुत जरूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here