7/September/2021, 21:40

Picture source- getty images

कोरोना के चलते देश के सभी स्कूल, यूनिवर्सिटी बंद हो गई थी लेकिन दिल्ली में अब हालात सुधरने की वजह से पहले स्कूलों को खोला गया था एवं अब 15 सितंबर को फाइनल ईयर यूजी और पीजी छात्रों के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी के कैंपस भी खुलेंगे। इसमें कहा गया है कि जो छात्र कॉलेज नहीं आना चाहते उनके लिए ऑनलाइन क्लासेज जारी रहेंगी। छात्रों पर निर्भर करता है कि वह कॉलेज आएंगे या नहीं।

दिल्ली विश्वविद्यालय में स्नातक और परास्नातक में जो छात्र अंतिम वर्ष में हैं, उनके लिए कॉलेज पचास फ़ीसदी क्षमता के साथ खोले जाएंगे। इसके लिए विश्वविद्यालय पहले ही घोषणा कर चुका है। इसमें लाइब्रेरी प्रयोगशाला एवं कक्षाएं खोली जाएंगी।

भारतीय न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक, दिल्ली विश्वविद्यालय ने सोमवार को एक आदेश जारी करके उसने कहा कि कॉलेजों, विभागों, केंद्रों के शिक्षण एवं गैर शिक्षण कर्मचारियों को यह जरूरी है कि वह जितनी जल्दी हो सके कोरोना कि दोनों वैक्सीन लगवा ले, एवं छात्रों के लिए जरूरी है कि वह कोविड-19 कि कम से कम एक खुराक जरूर लें। आगे कहा गया है कि कॉलेज विभाग विश्वविद्यालय में आने वाले सभी छात्रों को वैक्सीन की एक खुराक अवश्य मिली हो लेकिन कॉलेज आने वाले छात्रों के लिए दवाई की दोनों खुराक लेना भी जरूरी है।

विश्वविद्यालय द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि यदि पुस्तकालय में जगह खाली नहीं बचती है तो पुस्तकालय कम से कम नियमित रूप से छात्रों को किताब जारी करने की अनुमति दे सकते हैं। इसमें बोला गया है कि, “कॉलेज/विभाग/केंद्र छात्रों को पुस्तकालय जाने की अनुमति देने से पहले उन्हें समय-समय पर मिलने का समय देने पर भी विचार कर सकते हैं, ताकि भीड़भाड़ से बचा जा सके”।

कोरोना महामारी की वजह से पिछले बहुत समय से कॉलेज, स्कूल बंद है। अभी स्कूल खोलने के बाद छात्रों के आग्रह करने की वजह से दिल्ली विश्वविद्यालय एक बार फिर कॉलेजों को खोल रहा है। इस दौरान कॉलेजों में कोरोना के नियमों व कानूनों का पूरी तरह से पालन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here