11/September/2021, 21:48

image source- vijay rupani twitter

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने अपने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा है कि, ‘मैंने गुजरात के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। मुझे पांच साल राज्य की सेवा करने का मौका दिया गया। मेरी पार्टी जो भी कहेगी, मैं आगे करूंगा।’

अभी गुजरात में अगले चुनाव आने में 1 साल से भी ज्यादा का समय बाकी है। अब अगला मुख्यमंत्री कौन बनेगा इसमें नितिन पटेल, मनसुख मांडवीया, पुरुषोत्तम रुपाला, सीआर पटेल इन सभी के नाम आगे आ रहे हैं।

विजय रूपानी ने 11 तारीख, शनिवार को राज्यपाल आचार्य देवव्रत के पास जाकर अपना इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा देने के बाद वह बोले कि इस इस्तीफे के बाद पार्टी मुझे जो भी जिम्मेदारी सौंपेगी, में उसका पूरा काम करूंगा। जिसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को शुक्रिया किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने मुझे एक कार्यकर्ता से मुख्यमंत्री बनाया। अब गुजरात का विकास एक नए तरीके से हो।

शनिवार को राज्यपाल आचार्य देवव्रत के पास जाकर अपना इस्तीफा देते विजय रूपानी , image source- ANI

पार्टी संगठन के साथ हो रहे थे मतभेद

विजय रुपाणी इस्तीफा देने के बाद कहते हैं कि बीजेपी की यह परंपरा है कि वह कार्यकर्ताओं के दायित्व को बदलते रहते हैं, लेकिन ऐसा कहा जा रहा है कि गुजरात की जनता विजय रुपाणी के काम से खुश नहीं हैं, जिसकी वजह से उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। क्योंकि हाईकमान जनता से इस बारे में सलाह ले चुकी है,और फिर यह निर्णय लिया गया है। इसकी जानकारी विजय रुपाणी मीडिया को भी दे चुके हैं। ऐसा भी माना जा रहा है कि विजय रुपाणी के पार्टी संगठन से मतभेद हो रहे थे एवं प्रदेश अध्यक्ष के साथ भी उनके कुछ मतभेद थे।

विजय रुपाणी को अगस्त में मुख्यमंत्री बने हो चुके हैं 5 साल पूरे

यह पहला ऐसा केस नहीं है कि विजय! यह पहला ऐसा केस नहीं है कि बीजेपी के किसी नेता ने ऐसे अचानक इस्तीफा दे दिया हो। इससे पहले भी उत्तराखंड और कर्नाटक में भी बीजेपी इसी तरह मुख्यमंत्री बदल चुकी है। बिल्कुल इसी तरह अब गुजरात में भी हुआ है। विजय रुपाणी अगस्त में मुख्यमंत्री पद के 5 साल पूरे कर चुके हैं। इससे पहले 2016 में आनंदीबेन पटेल इस्तीफा दे चुकी हैं,। फिर उनकी जगह पर 2016 में ही विजय रुपाणी को मुख्यमंत्री बनाया गया था।

“प्रदेश में बीजेपी की हालत बहुत खराब है” :शंकर सिंह वाघेला

गुजरात के मुख्यमंत्री रह चुके शंकर सिंह वाघेला का कहना है कि गुजरात के हालात बहुत खराब हो रहे हैं। प्रदेश में बीजेपी से जनता बहुत नाराज चल रही है। यहां पर पूरा कंट्रोल दिल्ली से हो रहा है जो भी नया मुख्यमंत्री बनेगा वह दिल्ली के इशारों पर ही चलेगा। यहां मुख्यमंत्री अपने हिसाब से काम नहीं कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here