5/September/2021, 17:19

फिल्मकार और गीतकार जावेद अख्तर की हाल ही में एक इंटरव्यू में तालिबान से की गई आरएसएस, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल की तुलना से बीजेपी के नेता भडक गए हैं। उन्होंने जावेद अख्तर को तत्काल माफी मांगने को कहा है और साथ ही यह भी कहा है कि जब तक वह माफी नहीं मांगेंगे, उनकी फिल्मों को प्रदर्शित नहीं होने दिया जाएगा।

जावेद अख्तर ने हाल ही में एक न्यूज़ पोर्टल को इंटरव्यू दिया था एवं उसमें उन्होंने कहा कि तालिबान बर्बर है, उसकी हरकतें निंदनीय है, लेकिन आरएसएस, और बजरंग दल के समर्थन करने वाले सभी एक जैसे हैं।

जावेद अख्तर के इस बयान ने उन्हें को घेर लिया है। अब बीजेपी नेता उनके इस बयान के खिलाफ बोलते हुए कहते हैं कि यदि आरएसएस सच में तालिबान जैसा होता तो जावेद अख्तर को इस तरह बोलने की अनुमति बिल्कुल भी नहीं होती।

जावेद अख्तर के इस बयान के खिलाफ महाराष्ट्र बीजेपी के एक विधायक राम कदम ने जावेद अख्तर को आड़े हाथों लिया और एक वीडियो जारी करके कहा कि, जावेद अख्तर का यह बयान न केवल शर्मनाक है बल्कि संघ और विश्व हिंदू परिषद के करोड़ों पदाधिकारियों और दुनियाभर में उनकी विचारधारा का पालन करने वाले करोड़ों लोगों के लिए दर्दनाक और अपमानजनक है।’ उन्होंने आगे कहा कि ‘ये टिप्पणी करने से पहले वह यह तो सोचते कि उसी संघ परिवार से जुड़े हुए लोग आज इस देश की राजगद्दी को चला रहे हैं। राजधर्म का पालन कर रहे हैं। अगर तालिबानी विचारधारा होती तो क्या वे इस प्रकार की बयानबाजी कर पाते? संघ और विश्व हिंदू परिषद के करोडों कार्यकर्ताओं से जब तक जावेद अख्तर हाथ जोड़कर माफी नही मांगते हैं, तब तक उनकी और उनके परिवार की कोई भी फिल्म रिलीज नहीं होने दी जाएगी।’

बीजेपी ने कहा कि जावेद अख्तर के खिलाफ की जाएगी शिकायत

बीजेपी जावेद अख्तर के इस बयान के खिलाफ जमकर विरोध कर रही है इस बयान के विरोध में कुछ बीजेपी के एमएलए राम कदम के घर के थोड़ी सी ही दूर में पुतला जलाने लगे थे कि तभी पुलिस वहां आ गई एवं उनकी इस कोशिश को वहीं रोक दिया। इस पुतले पर जावेद अख्तर की फोटो लगाकर यह जलाया जाता पर यह पुलिस ने नहीं होने दिया और पुतले को जब्त कर लिया। बीजेपी पार्टी के नेता अब इसके खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराने के लिए जाएंगे।

जावेद अख्तर के बयान के खिलाफ बीजेपी यूथ विंग ने भी निकाला मोर्चा

जावेद अख्तर के खिलाफ पूरी बीजेपी पार्टी एकजुट होकर विरोध प्रदर्शन कर रही है। बीजेपी की यूथ विंग ने भी इसके खिलाफ मोर्चा निकाला एवं मांग की कि जावेद अख्तर माफी मांगे एक प्रदर्शनकारी का कहना है कि, ”हमें लगता है कि अख्तर मानसिक रूप से स्थिर नहीं हैं. इस देश ने उन्हें सब कुछ दिया है. आरएसएस जमीनी स्तर पर लोगों की मदद करता है और उन्होंने उसकी तुलना तालिबान से की है. यह अस्वीकार्य है. अगर वह माफी नहीं मांगते हैं तो उनके खिलाफ हमारा आंदोलन और तेज होगा.”

जावेद अख्तर अपने एक और बयान में कहते हैं कि भारत मे अलग-अलग जाति धर्मों के लोग हैं। यहां की जनसंख्या में भी अलग-अलग धर्मनिरपेक्षता के लोग रहते हैं।, परंतु यहां बहुत ऐसे लोग हैं जो R.S.S, हिंदू संगठन का साथ देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here